Zindagi ho gayi tinka

पुरानी #यादों को, सजाने में क्या रखा है
सूखे ज़ख्मों को, सहलाने में क्या रखा है
बना दिया तमाशा #मोहब्बत ने हमारा,
यादों के बिन, तन्हाइयों में क्या रखा है
भले ही राहें साफ़ हों उधर जाने की मगर,
अब बुतों से, #दिल लगाने में क्या रखा है
दिल नहीं जानता कि रिश्ते टूट जाते हैं,
अब इस तरह, अश्क बहाने में क्या रखा है
हमने तो सजा ली हैं नकली मुस्कराहटें,
अब किसी को, ग़म दिखाने में क्या रखा है
क्या सुनाएँ कहानी का अंजाम किसी को,
अब किसी का, दिल दुखाने में क्या रखा है
#ज़िन्दगी बिखर गयी तिनका तिनका "मिश्र",
आखिर उसे, फिर से बनाने में क्या रखा है....

WWW.DESISTATUS.COM

Intzaar thama kar chala gya

बस आँखों को इंतज़ार थमा कर चला गया कोई
वादा निभाने का वादा थमा कर चला गया कोई
सुनसान हो गया महफ़िलों का चमन भी अब तो
ज़िन्दगी को तन्हाईयाँ थमा कर चला गया कोई
कभी उसी से महकता था मेरे मन का ये उपवन
दर्द ए दिल की हर दवा छुपा कर चला गया कोई
चले थे साथ मिल कर कभी खुशियों की राह में
मंज़िल से पहले ही रंग दिखा कर चला गया कोई...

WWW.DESISTATUS.COM

Marne ke baad kaun

बाद #मरने के कौन किसको #याद होता है,
ना कोई #यार उसका, ना कोई #दिलवार होता है...
#ज़िन्दा जब होता है, तब कोई अपना नही उस #ग़ालिब का,
ग़र #ज़नाज़े में उसके सारा #परिवार होता है...

WWW.DESISTATUS.COM

Dil Mein Koi Aur Hai

Saji hai Mehfil, Charon taraf shor hi shor hai,
par lag raha hai hamare dilo dimag mein koi aur hai,
Churaya hai dil hamara, vo koi chor hai,
Aaya chupke se chura liya hamara dil,
aur jab humne puchha to bola hamare #Dil me koi aur hai...

WWW.DESISTATUS.COM

Mohabbat par dosh kyun

कैसे कैसे #लोग होते हैं...
दुनिया में यारो.....
एक से #वफ़ा कर नही सकते,
दूसरे से #दिल लगाते हैं..
बेवफाई खुद करके,
#मोहब्बत पर #दोष लगाते हैं !
जब #औकात ए फितरत में #मोहब्बत निभाना,
तो फिर दूसरे से #दिल क्यूँ लगाते हैं !

WWW.DESISTATUS.COM