Zindagi ka rang badrang

मुझे तो हर तरफ, सिर्फ अँधेरा नज़र आता है,
ज़िंदगी का हर रंग, अब बदरंग नज़र आता है !
कभी गुज़रती थी सुबह ओ शाम बहारों में जहां,
अब वो गुलशन भी, मुझे वीरान नज़र आता है !
तसल्लियों के भरोसे कैसे जीते हैं लोग आखिर,
हमें तो हर पल, ये जमाना बेदर्द नज़र आता है !
ये दिल्लगी भी जाने क्या गुल खिलाती है यारो,
अच्छा भला सा आदमी, पागल सा नज़र आता है !
कितना भरा है #ज़हर दुनिया के लोगों में,
जब निकलता है वो, आदमी शैतान नज़र आता है !

WWW.DESISTATUS.COM

Mere dil ka dard taza hai

Likhun kuchh aaj yeh waqt ka takaza hai,
Mere #Dil ka dard abhi taaza taaza hai,
Gir padte hain mere aansu mere hi kaagaz par
Lagta hai kalam mein syahi ka dard zyada hai.

WWW.DESISTATUS.COM

Gam De Gya Humko

जाते जाते भी तो वो, हज़ार ग़म दे गया हमको,
यूं ही मर मर के, जीने की #कसम दे गया हमको !
बसाया था मन में उसे एक हसीं फूल समझ कर,
मगर #ज़िन्दगी में, खारों सी चुभन दे गया हमको !
दो पल की ज़िंदगी भी न जी सके कभी प्यार से,
बहारें छीन कर वो तो, उजड़ा चमन दे गया हमको !
सोचते रहे कि कभी तो बहेंगी ठंडी हवाएं,
मगर ज़िन्दगी भर की, वो तो जलन दे गया हमको !

WWW.DESISTATUS.COM

Rishton ki dor kamzor kyun

Rishton ki dor kamzor kyun hai ?
khwahisho ki patang bina dor kyun hai,
#Mohabbat hai humein unse bepanah,
Fir unki #Zindagi main koi aur kyun hai...

WWW.DESISTATUS.COM

Dil kyon tod dete hain

जाने क्यों लोग, किसी का दिल तोड़ देते हैं,
अपनों से नाता तोड़ के, गैरों से जोड़ लेते हैं !
ज़रा सा भी दर्द नहीं होता दिलों में उनके,
कि बिना शर्मो हया, के वो मुख मोड़ लेते हैं !
कोई तो खो देता है सब कुछ प्यार में उनके,
पर वो फ़रामोश, याद करना भी छोड़ देते हैं !
यादों के सहारे जिए भी तो कोई कैसे जिए,
लोग उनमें भी अब, सुलगते शोले छोड़ देते हैं !
ख़ुदाया अब #प्यार भी बिकने लगा है ,
दौलत के वास्ते लोग, गरीब को छोड़ देते हैं !
 

WWW.DESISTATUS.COM