Page - 11

Dil fir se akela ho gya

कभी जलते थे दीप खुशियों के, अब अँधेरा हो गया,
अब तो किसी से प्यार करना, जी का झमेला हो गया !
वो चाहता है बदला चुकाना मेरी नेंमतों का दौलत से,
क्या लौटा सकेगा मुझको, जो सम्मान मेरा खो गया !
ये नादान दिल ना देख पाया उसमें उमड़ते ज़हर को,
जब तक समझ आता उसे, वो बेहद विषैला हो गया !
किस ख़ता की ये सजा है बस सोच कर हम हैरान हैं,
इतना पता तो है हमें कि, वो दुश्मन का चेला हो गया !
यूं तो तराने #प्यार के कभी हमने भी गाए थे यारो
पर दुनिया के इस रंग में, दिल फिर से अकेला हो गया !
 

Jatti Nu Lagdi E Sang

ਕਣਕਾਂ ਦੇ ਰੰਗ ਜਿਹਾ ਯਾਰ ਦਾ ਹੈ ਰੰਗ ਜੀ,
#ਪਿਆਰ ਤਾਂ ਬਥੇਰਾ ਕਰੇ, ਪਰ ਕਰਦਾ ਏ ਤੰਗ ਜੀ,
ਕਦੇ ਕਦੇ ਆਖ ਦੇਵੇ #Short ਜੇਹੇ ਪਾ ਲੈ ਕੱਪੜੇ,
ਪਰ ਉਹ ਕੀ ਜਾਣੇ #ਜੱਟੀ ਨੂੰ ਤਾਂ ਲੱਗਦੀ ਏ ਸੰਗ ਜੀ...

Aur Faasla badhta gya

Kuchh kadam hum chale
Kuchh kadam tum chale
Farq sirf itna raha
Hum chale to faasla ghat ta gya
Aur tum chale to faasla badhta gya...

Gusse Wich Vi Pyar

ਕੋਈ ਹਾਲਾਤ ਨਹੀਂ ਸਮਝਦਾ,
ਕੋਈ #ਜ਼ਜ਼ਬਾਤ ਨਹੀਂ ਸਮਝਦਾ..
ਗੁੱਸੇ ਨੂੰ ਤਾਂ ਹਰ ਕੋਈ ਵੇਖ ਲੈਂਦਾ,
ਗੁੱਸੇ ਪਿੱਛੇ ਲੁਕਿਆ #ਪਿਆਰ ਨਹੀਂ ਸਮਝਦਾ <3

Umar Bhar Rulane Ke Liye

क्यों चले आते हैं लोग, यूं ही जी जलाने के लिए !
कर के खुशियों का वादा, उम्र भर रुलाने के लिए !
खुद ही तो पास आते हैं दिलरुबा बन कर वो तो,
फिर कौन कहता है उन से, दूरियां बढ़ाने के लिए !
निभाते हैं कुछ लोग तो प्यार का बंधन उम्र भर,
पर कुछ लोग बनते हैं मीत, मतलब बनाने के लिए !
क्या जानेगा भला वो अश्कों की कीमत,
आता है जो बाज़ार में, धंधा ज़माने के लिए !