ऐ #बादल तू ‪#‎बरसात‬ करवा दे,
दिन तो ढल चुका है अब ‪#‎रात‬ करवा दे,

हवाओं की तो होती है ‪#‎खुशबू‬ से रोज मुलाकातें,
मुझे भी मेरे ‪#‎महबूब‬ से #मुलाकात करवा दे :)

Leave a Comment