DesiStatus.com is a collection of best, top rated status, we have ever found and placed them in one website for you! You can use these status on your profiles on Facebook, WhatsApp, Myspace and other social sites, that will make your profile really stand out and score Likes!

Just think about me

Think Big.
Think Positive.
Think Smart.
Think #Beautiful.
Think Great.
I know, that's a lot to think about.....

So here is a shortcut... 
just think about me =:)

True Love Never Dies

True #Love never dies
It remains in #Life forever
It's not a #Game of clever
It's an only chance to Live
In someone's heart forever
Love is that feeling
Which Comes only from a ture lover
Love is not to forget lover
It's to wait for lover forever
By also knowing that person
doesn't come back ever never...

Kitna waqt lagta hai

किसी को #आज़माने में, कितना #वक़्त लगता है..
उल्फ़त भरी #जिन्दगी जीनी पड़ती है,
#मौत को आने में कितना वक़्त #लगता है ?
जिसकी #जिन्दगी बीत जाती है #इज्ज़त कमाने में,
उस #इज्ज़त को गवाँने में कितना #वक़्त लगता है ?
यूँ तो #उम्र भर का तक़ाज़ा हो जाता है बालों का #सफेद होने में,
मगर उसे #रंगाने में कितना #वक़्त लगता है ?
किसी #रंगोली को बनाने में #घण्टों लग जाते है,
मगर उसे #मिटा जाने में कितना #वक़्त लगता है ?
यूँ #दिल की #बगिया में सुन्दर फूल देख खिलते हैं
उसे #तोड़ जाने में कितना #वक़्त लगता है ?

Computer Engineer Angry Girl

कंप्यूटर इंजीनियरिंग लड़की को किसी लड़के ने छेड़ा
.
उसका गुस्सा ऐसे निकला .... अरे ओ
‪#‎पेन ड्राइव के ढक्कन
पैदाइशी‬ Error
#VIRUS के बच्चे
‪#‎Excel की Corrupt File‬
अगर 1 Click मारूंगी तो
ज़मीन से #Delete होकर
‪#‎क़बर में Install  हो जायेगा‬ समझा

Zara sambhal kar rahiye

बा -मुश्किल मिली है आज़ादी, ज़रा संभल के रहिये
पहना दे बेड़िया फिर से न कोई, ज़रा संभल के रहिये
ज़र्रे ज़र्रे में मिला है खून शहीदों का वतन वालो,
ऐसी ज़मीने हिंद को न घूरे कोई, ज़रा संभल के रहिये
खिसका देते हैं पडोसी कुछ नाग हमारे घर में भी
हमें फन उनका भी कुचलना है, ज़रा संभल कर रहिये
डटे हैं जांबाज़ सीमा पर आँखें लगाये दुश्मनों पर
घर के अंदर भी हैं दुश्मन हमारे, ज़रा संभल कर रहिये
लहराता रहे तिरंगा अज़ीमो शान से हर तरफ
उठे न कोई बदनज़र उस पर कभी, ज़रा संभल कर रहिये