Page - 4

Ishq Ka Inaam Aaya

दर्द ही सही मेरे #इश्क़ का इनाम तो आया,
खाली ही सही होठों तक जाम तो आया...

मैं हूँ #बेवफा सबको बताया उसने,
यूँ ही सही चलो उसके लबों पर मेरा नाम तो आया !!!

Manzil Khafa Hai

Ek Dard Chhupa Rakha Hai,
Barson Se Dil Mein...
#Dil Karta Hai Aaj Keh Dun,
Bhari Mehfil Mein...
Kyon Aisa Lagta Hai Ki,
Mere Raaste Mujhse Juda Hain,
Aaj Bhi Kyon Meri
Manzil Mujhse Khafa Hai !!!

Apne Mehboob Ko Khuda

जिस जिस ने मोहब्बत में,
अपने #महबूब को खुदा कर दिया,
खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए,
उनको जुदा कर दिया !!!

Laut Aa Kisi Bahane Se

बहुत नाराज़ है, कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो तू लौट आ, किसी बहाने से...

तू लाख खफा सही मगर एक बार तो देख,
कोई टूट गया है, तेरे दूर जाने से....

Hum Bewafa Mante Nahi

Wo Nikal Gye Mere Raaste Se Is Kadar Ki,
Jaise Ki Wo Mujhe Pehchante Nahi...

Kitne Zakham Khaye Hain Mere Is Dil Ne,
Phir Bhi Hum Us #Bewafa Ko Bewafa Mante Nahi !!!